Wednesday, February 20, 2019

Cause and Symptoms of Jaundice and their Home remedies in hindi -पीलीया कारण,लक्षण और उसका घरेलू उपचार


Cause and Symptoms of Jaundice and their Home remedies 


Cause and Symptoms of Jaundice and their Home remedies,jaundice home treatment
jaundice causes


Jaundice एक ऐसा विकार है जसमे धीरे धीरे व्यक्ति के शरीर पीला पड़ने लगता है खासकर आंखे ,नाखून | यह एक ऐसा विकार है जिसका संबंध  हमारे शरीर के भीतर उपस्थित Liver से है Liver  हमारे शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि है | जब इसके काम में किसी प्रकार की बाधा आने लगती है या व्यक्ति को Liver  से सम्बंधित कोई रोग हो जाता है तो व्यक्ति को पीलिया  हो जाता है | पीलिया एक ऐसा रोग है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है फिर चाहे वो बड़े हो या छोटे बच्चे हो | 

Jaundice नवजात बच्चे को भी हो जाता है अगर किसी शिशु का जन्म समय से पहले हुआ है तो देखा गया है की ये समस्या उनमे भी दिखाई देती है | लेकिन छोटे शिशुओं को जो पीलिया होता है वह docter की देख रेख में कुछ समय में ही ठीक हो जाता है | अगर किसी व्यक्ति को महसूस होता है के उसे पीलिया है तो वो अपने रक्त का परिक्षण करा कर ये जान सकता है के उसे पीलिया है या नहीं | 

पीलिया होने के पीछे हमारी गलत जीवन शैली और दूषित खान पान है अगर हम स्वस्थ जीवन जिए और पोष्टिक भोजन खाए  साफ़ पानी पिए तो हमे किसी भी प्रकार का रोग नहीं  हो सकता लेकिन आजकल की भाग दौड़ की जीवन में व्यक्ति अपना और अपनी सेहत का ख्याल रखना भूल जाता है और कम के बोझ के कारण अत्यधिक तनाव में रहने लगता है जो व्यक्ति को अस्वस्थ जीवन की और लेकर जाती है |

पीलिया (Jaundice ) का कारण –


Cause and Symptoms of Jaundice and their Home remedies ,jaundice in adults
jaundice types

Best Home Remedies For Common Cold And Their Symptoms In Hindi

दोस्तों व्यक्ति में Jaundice का एक ही मुख्य कारण है और वो है हमारे Liver की किसी भी प्रकार की समस्या जिसमे वो ठीक से अपना काम ना  कर पाए | जब लीवर ठिक से काम नहीं कर पता तो हमारे शरीर में bilerubin नामक पीले रंग के पदार्थ का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है | दोस्तों हम सभी के शरीर में लाल रक्त कणिकाए जिसे हम Red Blood cell भी कहते  है पाई जाती है| इन Red Blood cell का एक निश्चित जीवन काल होता है जो 120 दिनों का होता है 120 दिन पूरे होने पर एल लाल रक्त कणिकाए नष्ट होने लगती है |


जब इन कणिकाओं का जीवन चक्र समाप्त हो जाता है तो ये हमारे लीवर में जाती है और वहां इनको तोड़ा  जाता है जब ये लीवर के अंदर टूटती है तो इनके टूटने पर इसमें  से एक पीले रंग का पदार्थ निकलता है जिसे हम Bilerubin कहते है और इस पीले रंग के bilerubin पदार्थ को हमारा लीवर मल और मूत्र के द्वारा बाहर निकलता  है जिससे हमारे शरीर में Bilerubin का स्तर सामान्य  बना रहता है | लेकिन किसी कारण या लीवर संबंधी किसी बीमारी जैसे Hepatitis B होने से हमारा लीवर Bilerubin को शरीर से बहार नहीं निकाल पाता |

जिसके कारण ये पीले रंग का पदार्थ हमारे शरीर में एकत्रित होता रहता है और इसी एकत्रित पीले रंग के कारण हमारी आंखे और नाख़ून पीले दिखाई देने लगते है | व्यस्क व्यक्ति में सामान्य  Bilerubin  स्तर 0.2 से 1.2 मिलीग्राम /डेसी लिटर होता है अगर bilerubin का स्तर इससे ज्यादा आए तो आपको चिकित्सा की जरूरत है |

(Jaundice)पीलिया के लक्षण –


आँखों का पीला हो जाना –

दोस्तों Jaundice हो जाने पर व्यक्ति की आँखों का सफ़ेद वाला हिस्सा पीला हो जाता है जिसकी आंखे जितनी पीली होती है उसको उतना ही ज्यादा पीलिया होता है | ऐसा होने पर Docter से संपर्क करे |

नाखून का पीला होना –

पीलिया होने पर प्रभावित व्यक्ति के नाखून का रंग पीला होने लगता है अगर उपचार ना  किया जाए तो इसका रंग समय के साथ साथ और भी ज्यादा पीला होने लगता है |

त्वचा में खूजली होना –

अगर व्यक्ति को Jaundice हो गया है तो प्रभावित व्यक्ति के शरीर में bilerubin का स्तर बढ़ने के कारण व्यक्ति की त्वचा में खूजली होने लगती है |

बुखार रहना –

अगर पीलिया पर ध्यान ना  दिया जाए तो थोड़ा  ज्यादा दिन हो जाने के बाद प्रभावित  व्यक्ति को पीलिया के कारण बुखार  जैसी समस्या होने लगती है और कभी कभी बुखार के साथ उलटी भी होती है | ये संकेत है की आपके शरीर में Bilerubin की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ गई है |

थकावट महसूस होना –

पीलिया से प्रभावित व्यक्ति को बहुत ज्यादा थकावट महसूस होती है थोड़ा  चलने पर या थोड़ा  बहुत काम करने पर ही व्यक्ति थक जाता है |

कब्ज होना –

कभी कभी पीलिया से प्रभावित व्यक्ति को कब्ज की भी समस्या होने लगती है |

Cause and Symptoms of Jaundice and their Home remedies

(Jaundice)पीलिया का घरेलू इलाज –


Cause and Symptoms of Jaundice and their Home remedies,jaundice hone ke lakshan
piliya ke upay

Symptoms Of Diabetes Their Cause And Treatment


एरंड की पत्तियां –

Jaundice एक ऐसी समस्या है जिसका ठीक समय पर उपचार ना करने पर प्रभावित व्यक्ति आगे चलकर बहुत परेशानी में आसकता  है इसलिए अगर किसी को भी पीलिया की समस्या है तो तुरंत उपचार शुरू कर दे | इस नुस्खे के लिए आप एरंड की 4 से पत्तिया ले और उसे अच्छी तरह से धो कर उसका रस निकाल ले फिर उस रस में से आप 3 चमच रस ले और उसे आधे ग्लास पानी मे मिला कर पी जाए | ऐसा आप सुबह खाली  पेट और रात को सोने से पहले करे आपका इससे आपका पीलिया भी ठीक होगा और अगर आपको liver से संबंधित कोई समस्या है तो वो भी ठीक होगी |

गन्ने का रस –

दोस्तों Jaundice में गन्ने का रस पीने से बहुत लाभ होता है अगर कोई व्यक्ति पीलिया से प्रभावित है तो रोज़ एक ग्लास गन्ने का रस जरुर पिए इससे पीलिया को ठीक होने में मदत मिलेगी | आप ज्यादा लाभ के लिए गन्ने के एक ग्लास रस में थोडा सा गेहूं के दाने के बराबर खाने वाला चूना जो पान की दुकान में मिलता है उसे मिला दे फिर इसका सेवन करे पीलिया बहुत ही जल्दी ठीक होगा | कभी कभी ऐसा देखा गया है की जब छोटे बच्चो को पीलिया हो जाता है तो वो अन्य प्रकार के घरेलू उपचार से दूर भागते है क्योंकि या तो उन घरेलू नुस्खों का स्वाद अच्छा नहीं होता या गंध | लेकिन ये ऐसा नुस्खा है जिसे बच्चे बहुत ख़ुशी से अपनाएंगे |

भूमि आंवला –

दोस्तों जैसा की  आप लोगो को पता ही होगा के Jaundice होने के पीछे कारण हमारे liver से जुडी कोई समस्या से है | अगर हमारा liver ठीक होगा तो हमे पीलिया की समस्या भी नहीं होगी | पीलिया और लीवर को ठीक करने के लिए अप इस नुस्खे का प्रयोग कर सकते है इसके लिए आप भूमी आंवला की 8 से 10 पत्तियाँ ले और उसे अच्छी तरह धो कर साफ कर ले फिर खाली पेट उन पत्तियों को अच्छी तरह चबा कर खाए | इससे आपका लीवर भी ठीक होगा और पीलिया भी आप इस नुस्खे का 10 दिन तक रोज़ सुबह खाली पेट प्रयोग करे |

Cause and Symptoms of Jaundice and their Home remedies,piliya ke lakshan aur upay in hindi
piliya in hindi
Cause and Symptoms of Jaundice and their Home remedies

पालक और मूली की पत्तियों की सब्ज़ी –

पालक  और मूली की पत्तियों में अनेक प्रकार के खनिज लवण होते है जो Jaundice में बहुत ही लाभ पहुँचाता है इसलिए पीलिया से प्रभावित व्यक्ति को रोज़ मूली और पालक से बनी सब्जियों का सेवन करना चाहिए इसके लिए आप इनकी पत्तियों को अच्छी तरह से साफ करके सब्जी बनाए लेकिन उस सब्जी में ज्यादा नमक और मसाले का उपयोग ना करे | इससे आपको पीलिया से छुटकारा पाने में आसानी होगी |

(Jaundice)पीलिया में खान पान –


दोस्तों Jaundice होने पर हमे घरेलू नूस्खो और दवाइयों के साथ साथ हमे परहेज़ करने की भी बहुत अव्यश्कता होती है परहेज़ करने से Jaundice को ठीक होने में बहिउट ही मदत मिलती है इसलिए परहेज़ अवश्य करे | पीलिया होने पर खान पण का बेहद ध्यान रखें ज्यादा मिर्च मसाले वाली और तली हुई चीज़े ना खाए हो सके तो कुछ दिन सिर्फ उबली हुई सब्जी और फल खाए रोज़ाना पत्तेदार सब्जियों  का सेवन करे या तो उन पत्तियों को पीसकर उनका रस पिए या उनको उबाल कर हल्का नमक मिलाकर  ऐसे ही खाए |

स्वच्छ पानी पियें और जब भी पानी पियें तो पहले उसे उबाल ले फिर उसको पिए जब भी खाना खाए ऐसा खाना खाए जिसका आसानी से पाचन हो सके | पीलिया होने पर आराम करे अगर आप शराब या धुम्रपान करते है तो इसको छोड़ दें  इन सभी परहेज़ को करके आप Jaundice से बहुत ही जल्दी छुटकारा पा सकते है| 



0 comments: